वन विभाग की सक्रियता से लगभग 70 लाख रूपए कीमत के दो हाथी दांतों की बरामदगी

बलरामपुर| प्रदेश के वन मंडल बलरामपुर के अंतर्गत परिक्षेत्र रघुनाथनगर स्थित वन खण्ड शंकरपुर में दो सप्ताह पूर्व एक नर दंतैल हाथी की मृत्यु हुई थी। प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्यप्राणी) श्री अतुल शुक्ला से प्राप्त जानकारी के अनुसार 11 अपराधियों द्वारा उक्त हाथी के दांत काट कर निकाल लिए गए थे। लगभग 70 लाख रूपए की कीमत के इन दोनों हाथी दांतो को वन विभाग की सक्रियता से बरामदगी कर ली गई है।     वन विभाग द्वारा इस पर अपराधियों के खिलाफ वन अपराध दर्ज कर तत्काल विवेचना की गई। इसमें संदिग्ध 11 अपराधियों से गहन पूछताछ में शिनाख्ती के आधार पर बलरामपुर वनमंडल के टोकाडांड पारा सोनहत निवासी श्री मोती पिता बंधु के घर में जमीन में गाड़कर छुपाए दोनों दांत की बरामदगी की गई। इनमे से अब तक आठ अपराधियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। दोनों हाथी दांतों मंे से एक का वजन 15.90 किलोग्राम तथा दूसरे दांत का वजन 16.40 किलोग्राम है। दोनों हाथी दांत की कीमत लगभग 70 लाख रूपए अनुमानित है। प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्यप्राणी) श्री शुक्ला ने यह भी बताया कि गत दिवस 19 नवम्बर को अचानकमार टायगर रिजर्व के लोरमी बफर क्षेत्र में जंगली सूअर के अवैध शिकार में तीन अपराधियों को पकड़ कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। हाथी दांत की बरामदगी में वन विभाग के डॉग स्क्वायड और क्षेत्रीय अमले तथा जंगली सूअर के शिकार के अपराध में अपराधियों को पकड़ने में अचानकमार टायगर रिजर्व के विभागीय अमले का योगदान सराहनीय रहा। हाथी दांतों की बरामदगी के लिए मुख्य वन संरक्षक की ए.बी. मिंज के मार्गदर्शन मंे तथा वन मण्डलाधिकारी बलरामपुर डॉ. प्रणय मिश्रा के निर्देशन में जांच टीम संयुक्त वन मण्डलाधिकारी श्री एस. सिंहदेव के नेतृत्व में गठित की गई थी। प्रकरण में वनपरिक्षेत्राधिकारी श्री रामशरण राम, उपवन क्षेत्र पर श्री गणेश सिंह, वनपाल श्री शिवनाथ ठाकुर का सहयोग सराहनीय रहा। 

Tags

latest news top 10 news chhattisgarh news

Related Articles

81989.jpg

More News

81989.jpg