रायपुर संभाग में बनाये गये 336 गौठान, 4 लाख से अधिक पशुओं का टीकाकरण

रायपुर| रायपुर संभाग के अपर आयुक्त श्री एल.एस. केन की अध्यक्षता में गत दिवस कमिश्नर कार्यालय में संभाग स्तरीय अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई। उन्होेेंने कहा कि रायपुर जिले का बनचरौदा पूरे राज्य के लिए एक माॅडल गौठान के रूप में कार्य कर रहा है। यहां महिला स्व-सहायत समूहों के माध्यम से वर्मी कम्पोस्ट बनाने, गोबर से दीया सहित विवेध उत्पाद बनाने, चारागाह, पोल्ट्री, मछली पालन करने जैसे महत्वपूर्ण कार्य किये जा रहे है। उन्होंने लोक सेवा गांरटी योजना के तहत नागरिकों को महत्वपूर्ण सेवाएं देना सुनिश्चित करने को कहा। संयुक्त संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं ने बताया कि संभाग में 336 गौठान बनाएं गये है। इनमें से 91 गौठान रायपुर, 65 महासमुन्द, 65 धमतरी, 48 गरियाबंद और 72 बलौदाबाजार जिले में संचालित है। इनके माध्यम से पशुओं को 4 लाख 4 हजार टीका लगाये गये है। उप संचालक उद्यान ने बताया कि नरवा,गरवा,घुरवा,बाड़ी योजना के तहत बाड़ी कार्यक्रम के माध्यम से रायपुर संभाग मेें कुल 1721 नवीन बाड़ियों की स्थापना की गई है। इसके अलावा 1323 नये बाड़ियों बनाने का कार्य प्रगति पर है। विभाग द्वारा पौधे और बीज उपलब्ध कराये गये है। 4821 पुराने बाड़ियों को भी बढ़ावा और तकनीकि मार्गदर्शन दिया गया है। संयुक्त संचालक लोक शिक्षण ने बताया कि संभाग में स्कूल परिसरों में किचन गार्डन को बढ़ावा दिया गया है। रायपुर जिले में 206, बलौदाबाजार में 298, महासमुन्द में 159, गरियाबंद 57 और धमतरी में 201 शालाओं में किचन गार्डन संचालित है। खाद अधिकारी ने बताया कि पूरे संभाग में अवैध धान परिवहन और संग्रहण करने वालों के विरूध्द लगातार जांच एवं निगरानी की जा रही है। इसके तहत राईस मिलर, गोदाम के साथ-साथ बिचोलियो और कोचियों की निगरानी किया जा रहा है। धान खरीदी के लिए बारदानों की व्यवस्था पूरी कर ली गई है। संयुक्त संचालक सहकारिता ने बताया कि समितियों में चबूतरें निर्माण के साथ तारपोलीन की व्यवस्था की गई है। हर एक धान संग्रहण केन्द्रोें की व्यवस्था चेकलिस्ट के अनुसार सुनिश्चित की जा रही है। संयुक्त संचालक स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत गर्भवती महिलाओें को मल्टीविटामिन और आयरन की गोली दी जा रही है। हाट बाजार क्लिनिक योजना और शहरी स्वास्थ्य कार्यक्रम के माध्यम से भी स्वास्थ्य सेवा और सुपोषण को बढ़ावा देने के लिए प्रयास किये जा रहे है। खनिज अधिकारी ने बताया कि रेत खदानों के टेंडर की कार्रवाई लगातार जारी है। इस अवसर पर उपायुक्त (राजस्व) श्री आनंद मसीह, उपायुक्त (विकास) श्रीमती सरिता तिवारी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।


Tags

latest news top 10 news chhattisgarh news

Related Articles

81989.jpg

More News

81989.jpg