सड़क दुर्घटनायें रोकने के लिये सुप्रीम कोर्ट कमेटी ऑन रोड सेफ्टी के निर्देशों का पालन सुनिश्चित करें: आरके विज

रायपुर| पुलिस मुख्यालय, अटल नगर नवा रायपुर में 21 एवं 22 अक्टूबर 2019 को राज्य के रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर, सरगुजा एवं बस्तर रेंज के सभी जिलों के यातायात प्रभारियों एवं हाईवे पेट्रोलिंग कर्मचारियों के कार्यो की समीक्षा बैठक विशेष महानिदेशक श्री आर.के.विज, की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस बैठक के प्रारंभ में श्री संजय शर्मा, सहायक पुलिस महानिरीक्षक (यातायात) पु0मु0 ने राज्य के सड़क सुरक्षा परिदृश्य में प्रकाश डालते हुए विभिन्न जिलों में ब्लैक/ग्रे स्पॉट्स (खतरनाक एवं सामान्य दुर्घटना जन्य क्षेत्र) की स्थिति, उनके उपायों, आगामी तीन माह की जिलास्तरीय कार्ययोजना सहित मोटर व्हीकल एक्ट में की गई कार्यवाही की जानकारी दी। श्री विज, ने सुप्रीम कोर्ट कमेटी, ऑन रोड सेफ्टी के दिशा-निर्देश के अक्षरषः पालन के साथ-साथ सड़क सुरक्षा प्लान, वार्षिक लक्ष्य, कार्ययोजना/प्रवर्तन, दुर्घटनाओं का ब्लैक/ ग्रे स्पॉट्स, असुरक्षित सड़क मार्गो की पहचान ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क सुरक्षा समिति का गठन, सड़क सुरक्षा की उपयोगिता एवं प्रवर्तन की कार्यवाहियों में ग्रामीण क्षेत्र के थाना प्रभारियों की सक्रिय सहभागिता सुनिश्चित करने, लोक निर्माण विभाग के सहयोग से नवीन सड़को विषेषकर दुर्घटनाजन्य क्षेत्र की सड़क सुरक्षा, आडिट हेतु पहल करने के निर्देष सहित विभिन्न सुधारात्मक उपायों की समुचित समीक्षा एवं विश्लेषण के निर्देश दिये। बैठक में 20 अक्टूबर 2019 की स्थिति में गंभीर/खतरनाक एवं सामान्य दुर्घटना जन्य क्षेत्र (ब्लैक/ग्रे स्पॉट्स) उनके सुधार के उपाय हेतु सुझाव दिये गये। श्री विज ने प्रत्येक दुर्घटनाजनित स्थल का सम्पूर्ण विवरण सहित जिले के सभी ब्लैक/ग्रे स्पॉट्स का मैप (नक्शा) एवं इनमें घटित घटनाओं का इतिहासवृत्त संधारण हेतु निर्देशित किया। समीक्षा बैठक में राज्य से विभिन्न जिलों से प्राप्त आकड़ों के विश्लेषण से यह परिलक्षित हो रहा है कि अधिकांश दुर्घटनायें शाम 6ः00 बजे से रात्रि 9ः00 बजे के बीच हो रही है। वाहन चालको के द्वारा मादक द्रव्यो का सेवन, अधिक गति एवं लापरवाही पूर्वक, बिना हेलमेट/सीटबेल्ट के वाहन चालन के कारण हुई है एवं चालानी कार्यवाही औसतन कम है, दुर्घटनाओं एवं मृत्यु/घायलों की संख्या में वृद्धि हुई है। स्कूली बच्चे दुर्घटना के षिकार ना हो, नाबालिक वाहन चालकों पर प्रभावी नियंत्रण हेतु मोटरयान अधिनियम के तहत कार्यवाही के निर्देश दिये गये है। सभी दुर्घटनाओं में सबसे अधिक नुकसान दुपहिया वाहन चालकों का हुआ है। अस्तु सड़क सुरक्षा के अधिक प्रयास दुपहिया वाहन चालकों की जीवन रक्षा के लिए किया जावें। आवारा पशुओं से होने वाले दुर्घटनाओं से बचाव के लिए स्थानीय निकायों से समन्वय स्थापित कर प्रभावी कार्यवाही हेतु पहल की जावें| उक्त बैठक मे सहायक पुलिस महानिरीक्षक श्री संजय शर्मा, अति.पु.अ.यातायात जिला-दुर्ग श्री बलराम हिरवानी, अति.पु.अ.यातायात रायपुर श्री एम.आर.मण्डावी, श्री गजेन्द्र ठाकुर, अति.पु.अ.जिला-राजनांदगांव, श्री रोहित बघेल अति.पु.अ. जिला-बिलासपुर, श्री राजकुमार मिंज अति0 पुलिस अधीक्षक जिला-रायगढ़, श्री शिव चरण सिंह उप पुलिस अधीक्षक जिला-जांजगीर चांपा, श्री पृथ्वी दुबे उप पुलिस अधीक्षक जिला-महासमुंद, सहित समस्त जिलों के यातायात प्रभारी उपस्थित थे।

Tags

latest news top 10 news

Related Articles

81989.jpg

More News

81989.jpg